उन्हें पाने की चाहत…



सावन की बूंदों में झलकती है उनकी तस्वीर,
आज फिर भीग बैठे हैं उन्हें पाने की चाहत में।

उन्हें पाने की चाहत शायरी


, , ,