तेरी यादों में हूँ…



मैं जहाँ हूँ अभी तेरी यादों में हूँ
जो गुजर रही मेरे बिन उन रातों में हूँ
इधर उधर मुड़के न देखो हमें,
नशा बन के अभी तेरी आँखों में हूँ।

तेरी यादों में हूँ शायरी


, , ,