दिल के राज…



दिल में है जो बात होंठों पे आने दे,
मुझे जज्बातों की लहरों में खो जाने दे,
आदी हो चुका हूँ मैं तेरी निगाहों का,
अपनी निगाहों के समंदर में डूब जाने दे।

अपने प्यारे से दिल में आशियाना बनाने दे,
मुझे अपनी ज़ुल्फों के साए में सो जाने दे,
साँसों की खुशबू मेरी साँसों में समाने दे,
तेरे दिल को मेरे दिल के राज बताने दे।

दिल के राज शायरी


, , ,