महकती चली जाऊं…



बारिश की तरह कोई बरसता रहे मुझ पर,
मिट्टी की तरह मैं भी महकती चली जाऊं।


, , ,