यादों को तेरी दे दी पनाह…



एक कतरा ही सही आँख में पानी तो रहे,
ऐ मोहब्बत तेरे होने की निशानी तो रहे,
बस यही सोच के यादों को तेरी दे दी पनाह,
इस नये घर में कोई चीज पुरानी तो रहे।

यादों को तेरी दे दी पनाह शायरी


, , ,