राज रिश्तों के…



वख्त-ए-तह में रहने दो राज रिश्तों के…
आजकल किताबों से उड़ने लगी हैं तहरीरें हवा में।


, , ,