शब-ए-ग़म में मुसीबत…



अज़ल भी टल गई देखी गई हालत न आँखों से,
शब-ए-ग़म में मुसीबत सी मुसीबत हम ने झेली है।


, , ,