होते अगर पास…



होते अगर पास तो कोई शरारत करते,
लेकर तुम्हें बाहों में मोहब्बत करते,
देखते तेरी आँखों में नींद का खुमार,
अपनी खोयी हुई नींदों की शिकायत करते।


, , ,